मुख्यपृष्ठ

NEW UPDATES
भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक प्रख्यात नेता नेताजी सुभाष चंद्र बोस

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक प्रख्यात नेता नेताजी सुभाष चंद्र बोस

‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा’ सुभाष चन्द्र बोस ने ‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा’ और ‘जय हिन्द’ जैसे प्रसिद्द नारे दिए, भारतीय प्रशासनिक सेवा की परीक्षा पास की,... ...
सम्यक समाधि भावना से सम्बंधित कुछ पंक्तियाँ

सम्यक समाधि भावना से सम्बंधित कुछ पंक्तियाँ

सम्यक समाधि भावना चेतना जगलो, चिता जलने से पहले निज आत्मा की आस्था जगलो, अस्थियाँ बिखरने से पहले, संयम धारण कर लो, रोग आने से पहले, परमात्मा को भज लो, पेरालाइसिस होने से पहले,अंतर... ...
मराठों की शान महाराष्ट्र की जान

मराठों की शान महाराष्ट्र की जान

संक्षिप्त परिचय पूरा नाम – बाल केशव ठाकरेजन्म – २३ जनवरी १९२६जन्मस्थान – पुणे, महाराष्ट्रपिता – केशव सीताराम ठाकरेमाता – रमाबाई केशव ठाकरेविवाह – मीना ठाकरे बाल केशव ठाकरे एक भारतीय राजनेता थे, जिन्होंने... ...
भारतीय भाषा अपनाओ अभियान की सफलता के लिए भारतीय भाषा सम्मान यात्रा का आयोजन महायज्ञ के साथ २५ दिसम्बर २०१८ को मुंबई से दिल्ली की ओर प्रस्थान

भारतीय भाषा अपनाओ अभियान की सफलता के लिए भारतीय भाषा सम्मान यात्रा का आयोजन महायज्ञ के साथ २५ दिसम्बर २०१८ को मुंबई से दिल्ली की ओर प्रस्थान

भारतीय भाषा अपनाओ अभियान आतंकवाद से अधिक खौफ अंग्रेजी का किसी देश को खत्म करने के लिए उसकी भाषा को ही खत्म करना काफी होता है, भाषा खत्म होने के बाद संस्कृति को कैसे... ...
भारतीय शिक्षा का सर्वनाश

भारतीय शिक्षा का सर्वनाश

मुल पुस्तक से (भारत में अंग्रेजी राज) अंग्रेजों से पहले भारत में शिक्षा की अवस्था अंग्रेजों के आने से पहले सार्वजनिक शिक्षा और विद्या प्रचार की दृष्टि से भारत संसार के अग्रतम देशों में गिना... ...
मेरा ध्यान मुंबई पर है जहां से ३६ विधायक आते हैं

मेरा ध्यान मुंबई पर है जहां से ३६ विधायक आते हैं

मेरा ध्यान मुंबई पर है जहां से ३६ विधायक आते हैं मुंबई: हिंदी प्रदेशों के तीन राज्यों में भाजपा की हार की पृष्ठभूमि में महाराष्ट्र में कॉग्रेस का मानना है कि वह ‘कृषि संकट’... ...
मारवाड़ी पुस्तकालय में १०२ साल पहले आए थे गांधीजी

मारवाड़ी पुस्तकालय में १०२ साल पहले आए थे गांधीजी

नई दिल्ली चांदनी चौक में फौव्वारे के पास मौजूद मारवाड़ी पुस्तकालय में आजादी से पहले स्वतंत्रता संग्राम में शामिल नेताओं की गुप्त बैठकें हुआ करती थी, जिनमें भाग लेने के लिए कई स्वतंत्रता सेनानी... ...
श्री रामकृष्ण मिशन के संस्थापक स्वामी विवेकानंद जी

श्री रामकृष्ण मिशन के संस्थापक स्वामी विवेकानंद जी

स्वामी विवेकानंद एक ऐसे महापुरूष थे जिनके उच्च विचारों, अध्यात्मिक ज्ञान, सांस्कृतिक अनुभव से हर कोई प्रभावित है, जिन्होने हर किसी पर अपनी एक अदभुद छाप छोड़ी है। स्वामी विवेकानंद का जीवन हर किसी... ...
छत्तीसगढ़ के अलग राज्य बनने के बाद तीसरे मुख्यमंत्री बने भूपेश बघेल​

छत्तीसगढ़ के अलग राज्य बनने के बाद तीसरे मुख्यमंत्री बने भूपेश बघेल​

भूपेश बघेल के चयन के बड़े कारण छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को मजबूती देने में योगदान, राहुल ने जो भी जिम्मा सौंपा, बघेल उस पर खरे उतरे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर पिछले ५... ...
कमलनाथ का सियासी सफर

कमलनाथ का सियासी सफर

राजनैतिक जीवन राजनैतिक जीवन- नौ बार सांसद, केंद्रीय मंत्री के रूप में संसदीय कार्य, शहरी विकास जैसे अहम विभाग संभाले खासियत ८ महीने पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बने कमलनाथ को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी... ...